Wednesday, December 30, 2015

ताज़़गी भरे गीत

पुष्ट भावनात्मक कथ्य और छांदसिकता से समृद्ध, ताज़गीभरे गीतों के लिए चित्रांश वाघमारे को बधाई। चित्रांश मुझसे पूरे पचास वर्ष छोटे हैं, इसलिए उन्हें मेरा आत्मिक शुभाशीष! यह संभावनाशील रचनाकार निश्चय ही गीत-नवगीत का एक प्रमुख भावी हस्ताक्षर है। उनकी रचनाशीलता नित्य प्रति समृद्ध और परिष्कृत होती रहे, यह मेरी मंगल कामना है! उनके गीतों का कथ्य मात्र वैचारिक नहीं अपितु आंतरिक अनुभूति के रूप में पाठक के मन को छूता है, यह उनकी अतिरिक्त विशेषता है! उन्हें पुन: पुन: आशीष!
-डॉ. धनञ्जय सिंह

No comments: